10 हिंदी अनमोल वचन – क्रोध न करे


10 hindi quotes about dont engry

quotes about dont engry

1. “क्रोध” एक ऐसी भावना है जो व्यक्ति के सभी गुणों को नष्ट कर देता है।

2. व्यक्ति सदैव अपने कर्म-कौशल और कर्तव्य पालन की प्रक्रिया से पहचाना जाता है।

3. अपने से बड़ों का आदर-सत्कार करने एवम् अपने से उम्र में छोटो का मार्गदर्शन करने से इंसान के चरित्र का पता चलता है।

4. एक सहनशील एवम् धैर्यवान व्यक्ति की यही पहचान होती है, कारण चाहे जो भी हो वो अपने क्रोध पर नियंत्रण करना अच्छे से जानता है। 

5. जटिल से जटिल समस्या में अपनी जीवन रूपी नैया को पार लगाने में सक्षम होता है।दैहिक स्तर पर क्रोध करने से ह्रदय की गति बढ़ जाती है इसी कारण रक्त चाप भी बढ़ जाता है।


6. क्रोध इंसान के सकारात्मक परिवेश को नष्ट करता हैं इसलिए क्रोध से अपने अंतर्मन को हमेशा दूर रखें वरन यह आपके लक्ष्य में अनेकों बाधाएं उत्पन्न करेगा।

10 hindi quotes about dont engry

7. सुखी एवम् समृद्ध जीवनशैली की प्राप्ति हेतु यह अतिआवश्यक है कि इंसान अपनी ऊर्जा का दुरपयोग न करे अपितु सदिपयोग करके राष्ट्र एवम् समाज हितैषी बने।

8. क्रोध या व्यर्थ की उत्तेजना हमारे भीतर की शक्ति का हनन करके, पतन के द्वार पर जाकर छोड़ देती है।

9. क्रोध से सिर्फ शारीरिक नहीं एवम् मानसिक विकार जुड़े हुए हैं जोकि व्यक्ति को नकारात्मक सोच की तरफ धकेल देते है।

10. क्रोध किसी समस्या का समाधान नहीं देता इसलिए सदैव सकरात्मक सोचे और निरंतर अपनी आत्मशक्ति का प्रयोग कर अपने लक्ष्य की प्राप्ति करें।

यह पोस्ट आपको केसी लगी इसके बारे में हमे Comment कर बताये। इसके Related कोई Question आपके दिमाग में है तो आप पूछ सकते है । हमे Support करने के लिए Facebook, Twitter और Youtube पर Like, follow और Subscribe करे। हम एसे ही काम की बाते आपके लिए लाते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: