Hindi Stories Moral – क्यों कुछ स्टूडेंट बार बार fail हो जाते है?


Hindi Stories Moral – एक पिता अपने  बेटे को डॉक्टर बनाना चाहता था। बेटा इतना होशियार नहीं था कि PMT क्लियर कर लेता। इसलिए पिता ने दलालों से MBBS की सीट खरीदने का जुगाड़ किया। जमीन जायदाद जेवर गिरवी रख के 35 लाख रूपये दलालों को दिए। लेकिन उन दलालो ने उन्हें धोखा दे दिया।

student motivation notes

फिर किसी तरह विदेश में लड़के का एडमीशन कराया गया, वहाँ भी लड़का  चल नहीं पाया। फेल होने लगा..डिप्रेशन में रहने लगा। रक्षाबंधन पर घर आया और यहाँ सुसाइड  कर ली। 20 दिन बाद माँ बाप और बहन ने भी कीटनाशक खा के आत्म हत्या कर ली।

अपने बेटे को डॉक्टर बनाने की झूठी महत्वाकांक्षा ने पूरा परिवार खत्म कर लिया। माँ बाप अपने सपने अपनी महत्वाकांक्षा अपने बच्चों से पूरी करना चाहते हैं ..कुछ माँ बाप अपने बच्चों को Topper बनाने के लिए इतना ज़्यादा दबाव डालते हैं कि बच्चे का स्वाभाविक विकास ही रुक जाता है।

आधुनिक स्कूली शिक्षा बच्चे की evaluation और grading ऐसे करती है जैसे सेब के बाग़ में सेब की खेती की जाती है। पूरे देश के करोड़ों बच्चों को एक ही syllabus पढ़ाया जा रहा है। मा बाप को यह समझना होगा कि उसके बच्चे में क्या करने की एबिलिटी है।

इसे इस तरह समझते है । एक जंगल में सभी पशुओं को एकत्र कर सबका इम्तहान लिया जा रहा है। और पेड़ पर चढ़ने की क्षमता देख के Ranking निकाली जा रही है। अब पूरे जंगल में ये बात फ़ैल गयी कि कामयाब वही होगा जो झट से कूद के पेड़ पर चढ़ जाए। बाकी सबका जीवन व्यर्थ है। सभी फैल है।

Hindi Stories Moral

इसलिए जिन जानवरो के बच्चे कूद के झटपट पेड़ पर न चढ़ पाए उनके लिए कोचिंग Institute खुल गए। वह पर बच्चों को पेड़ पर चढ़ना सिखाया जाता है। सभी हाथी जिराफ शेर और सांड़ भैंसे और समंदर मछलियाँ पेड़ पर चढ़ना सीखने के लिए  चल पड़ीं अपने बच्चों के साथ Coaching institute की ओर । यह सोच कर की हमारा बेटा भी पेड़ पर चढ़ेगा और हमारा नाम रोशन करेगा।


एक हाथी के घर लड़का हुआ तो उसने उसे गोद में ले के कहा- ‘हमारी जिन्दगी का एक ही मक़सद है कि हमार बेटा पेड़ पर चढ़ेगा।’ और जब बेटा पेड़ पर नहीं चढ़ पाया तो हाथी ने सपरिवार ख़ुदकुशी कर ली।

अपने बच्चे को पहचानिए। वो क्या है ये जानिये। हाथी है या शेर। चीता ।लकडबग्घा। जिराफ। ऊँट है या मछली  या फिर हंस मोर या कोयल?  क्या पता वो चींटी ही हो ? और यदि चींटी है तो हताश व निराश न हों। चींटी धरती का सबसे परिश्रमी जीव है और अपने खुद के वज़न की तुलना में एक हज़ार गुना ज्यादा वजन उठा सकती है।

Hindi Stories Moral

हर बच्चा अपनी अलग खूबी के साथ इस दुनिया मे आया है। सभी का अलग अलग टेलेंट होता है। सोचो अगर सभी डॉक्टर बन गए तो इंजीनिअर कौन बनेगा। सभी क्लर्क बन गए तो खेती कौन करेगा। सभी खेती करेगे तो व्यापारी कोन बनेगा। इसीलिए उपरवाले ने सभी को अलग अलग खूबियों के साथ यहाँ भेजा है।

मान लो सभी मनुष्य एक जैसे हो जाए तो क्या होगा। एक जैसे लोग हमेशा एक जैसा काम करेंगे वो भी मशीन की तरह। इससे कोई नया आविष्कार या खोज नही होगा। मनुष्य का विकास ही रुक जाएगा। इसलिए अपने बच्चों की क्षमता को परखें और जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें ।

यह पोस्ट आपको केसी लगी इसके बारे में हमे Comment कर बताये। इसके Related कोई Question आपके दिमाग में है तो आप पूछ सकते है । हमे Support करने के लिए Facebook, Twitter और Youtube पर Like, follow और Subscribe करे। हम एसे ही काम की बाते आपके लिए लाते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: