क्या आप काम को टालते है तो इसे जरूर पढ़े – Hindi Motivational Stories


Hindi Motivational Stories 

 Hindi Motivational Stories 

एक दिन जब आप घर आओ। आप जब दरवाजा खोलकर देखा तो अंदर चार पांच लोग बैठे हुए हैं। सभी लोगों ने अच्छे कपड़े पहने हैं और आप सब को अच्छी तरह से जानते हो। लेकिन उनमें एक शख्स ऐसा भी है जिसकी उम्र करीब 50 से 70 वर्ष के बीच में है। उसने फटे हुए जूते गंदे कपड़े पहने हुए हैं। जो देखने में बहुत बीमार से नजर आ रहा है। यहां तक कि उसके सिर पर जो काले सफेद बाल हैं उनमें तेल तक लगाया हुआ नहीं है।

आप भी उनके बीच बातें करने के लिए बैठ जाते हो। और जब आप उस गंदे और गरीब जैसे दिखने वाले आदमी से पूछते हो कि आप क्या करते हो तो वह आपको अपनी कहानी बताता है कि उसकी हालत का जिम्मेदार कोई और नहीं वह खुद है। जब वह कॉलेज में था तब बड़े बड़े सपने देखा करता था। कॉलेज पास होने के बाद जब उसने कई जॉब ज्वाइन किए लेकिन यहां भी सपने देखने बंद नहीं किए। सपनों में वह खुद को बहुत बड़ा आदमी बनते हुए देखता था। उसके पास पैसा हो, गाड़ी हो, अच्छा घर हो, सब कुछ हो, लेकिन इन सपनों को पूरा करने के लिए कभी कोई कदम नहीं उठाता था।

Hindi Motivational Stories 

बस वह सुबह शाम अपनी नौकरी किए जा रहा था। आधे समय वह अपनी नौकरी को बचाने की तरकीब सोचा करता था। ऐसा करते करते उसने 10 साल तक नौकरी की लेकिन उसके पास बचत के नाम पर कुछ नहीं था। सैलरी के पैसों को वह अपने शौक पूरे करने में खर्च कर देता था। उसके पास भी महंगे मोबाइल फोन, अच्छे जूते, ब्रांडेड कपड़े सब कुछ हुआ करते थे। सैलरी के आते ही वह फिल्म, पार्टी, सैर-सपाटे में बिजी हो जाया करता था। और महीने के अंत में उसके पास कुछ नहीं बचता था।


10 साल नौकरी करने के बाद अचानक से कम्पनी ने उसे नौकरी से निकाल दिया। अब उसके पास ना तो कोई नौकरी थी और ना ही अपने सपने पूरे करने के लिए पैसे। यहां तक की पढ़ाई के लिए पैसे खत्म होने के कारण वह कुछ और भी नहीं कर सकता था। अचानक से उसकी दुनिया पर बर्बाद हो गई। कुछ दिन तो अपने दोस्तों के रहमों करम पर पलता रहा। लेकिन दोस्तों ने भी एक एक करके उसे किनारा करना शुरु कर दिया था। अब उसके पास घर जाने के अलावा कोई दूसरा चारा नहीं बचा था।

Hindi Motivational Stories 

घर जाकर वह घर वालों पर बोझ बन गया। कई साल ऐसे ही गुजर जाने के बाद जब उसकी उम्र 40 साल की हो गई तो अब कंपनी में इंटरव्यू के लिए कॉल करना भी बंद कर दिया। उसके पास पैसे नहीं होते थे तो उसने पास के एक छोटे से स्कूल में टीचर बहुत कम सेलरी पर बच्चों को पढ़ाना शुरु किया। उसके सभी शोक खत्म हो चुके थे। उसे महीने में इतने ही पैसे मिलते थे की वह अपना पेट भर सके। आज उसे वह काम करते हुए 10 साल हो गए हैं और आज उसकी उम्र 50 साल है। आज मेरी उम्र 50 साल है यह कहते हुए उस गंदे और बीमार आदमी ने अपनी बात को यहीं विराम दिया।

कहानी के अंत में आपको बताया जाता है कि यह आदमी कोई और नहीं तुम हो जो फ्यूचर से किसी तरह तुम्हें सिर्फ यह बात समझाने के लिए आया है। जब आप गौर करते हो तो आपको पता चलता है की सच में मैं ही हूं। आपको यकीन हो जाता है।

अब आपकी प्रतिक्रिया क्या होगी? क्या अब भी आप अपने शौक पूरे करेंगे?  आप क्या अपने सपने पूरे करना शुरू कर देंगे? क्या आप कुछ ऐसा करेंगे जिससे आपका फ्यूचर बदल जाए? इसके बाद भी कल से शुरू करेंगे या अभी टाइम आने दो या मेरे पास इतने पैसे नहीं है इस तरह बहाने बनाते रहेंगे। क्या आप अपना टारगेट निश्चित करेंगे उसे पूरा करना शुरू करेंगे? अपना जवाब कमेंट बॉक्स में जरूर दें ।

यह पोस्ट आपको केसी लगी इसके बारे में हमे Comment कर बताये। इसके Related कोई Question आपके दिमाग में है तो आप पूछ सकते है । हमे Support करने के लिए Facebook, Twitter और Youtube पर Like, follow और Subscribe करे। हम एसे ही काम की बाते आपके लिए लाते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: