Computer Programming Languages – कंप्यूटर भाषा क्या है?


इंसान सदियों से भाषा का इस्तेमाल Communication के लिए करता आ रहा है। शायद पृथ्वी पर इंसान ही एसा जीव है जो भाषा को प्रयोग करता है। अलग अलग देशों और जगह पर अलग-अलग भाषा का इस्तेमाल होता है। पर क्या आपको पता है कि कंप्यूटर किसी भाषा को नहीं समझता। ना इंग्लिश, ना हिंदी, न कोई और। computer की भाषा बिल्कुल अलग है जिसे इंसान भी नहीं समझ पाता। तो आइए जानते हैं कंप्यूटर की भाषाएं क्या है? और यह कैसे काम करता है?

programming languages

 

Computer Programming Languages 2 Type की होती है –

1. Low Level Language

हमने पहले ही बता दिया था कि computer किसी भाषा को नहीं समझता। सिर्फ डिजिटल सिग्नल को समझता है। इन्हें Low Level Language कहा जाता है। ये 2 तरह की होती है-

1. Machine Language – 01010 1010101010. अब आप पूछोगे- यह क्या है? हां दोस्तों यही है कंप्यूटर की लैंग्वेज। इसी को कंप्यूटर समझता है इसे मशीन लैंग्वेज कहा जाता है जहां 0 का मतलब होता है False और 1 का मतलब होता है True. इसे बाइनरी डिजिट कहा जाता है। इसी Simple Trick से हमारा system आसानी से काम करता है।

2. Assembly Language – मशीन लैंग्वेज को इंसान आसानी से code नहीं कर सकता और इसको update करने में भी काफी दिक्कत आती है। इसलिए एसेंबली लैंग्वेज को डेवलप किया गया। इसमें बाइनरी कोड 0 और 1 के साथ कुछ इंग्लिश वर्ड भी जोड़े गए। जैसे जोड़ने के लिए ADD, घटाने के लिए SUB, START और LABEL etc. Low Level Language में यह सबसे इंपोर्टेंट है।

 

2. High Level Language

मान लो कंप्यूटर में सिर्फ Low Level Language लैंग्वेज ही होती जिससे कंप्यूटर ऑपरेट होता। तो क्या आप और हम जैसे लोग इसे चला पाते? इसका जवाब शायद नहीं होगा। क्योंकि 01010100 की कोडिंग हर किसी को बोर कर देगी। सिर्फ वैज्ञानिक ही इसे समझ पाते। इस समस्या को दूर करने के लिए हाई लेवल लैंग्वेज को बनाया गया। इसमें बहुत से English word डाले गए जिससे कोडिंग सीखने व करने में आसानी हुई । इस तरह के प्लेटफार्म में वर्क करने के लिए अलग-अलग Programming language को बनाया गया।


Example of computer Language

  1. COBOL – Business applications
  2. FORTRAN – Engineering & Scientific Applications
  3. PASCAL – General use and as a teaching tool
  4. C & C++ – General Purpose – currently most popular
  5. PROLOG – Artificial Intelligence
  6. JAVA – General Purpose gaining popularity rapidly

 

कंप्यूटर High Level Language को समझता कैसे है ?

आपके मन में सवाल होगा की कंप्यूटर सिर्फ 010101 1 की भाषा को समझता है तो यह हाई लेवल लैंग्वेज कैसे बनी। और कंप्यूटर इसे कैसे समझता है? इसका जवाब है Assembler, Compiler और Interpreter. अब यह क्या है? आपने कभी हमारे प्रधानमंत्री जी को अमरीका और इंग्लैंड जैसे इंटरनेशनल मंच पर हिंदी में भाषण देते सुना है। क्या आपने सोचा है कि वहां की जनता को हिंदी कैसे समझ में आती है? इसका जवाब है – Translator जो हिंदी को इंग्लिश तथा अन्य भाषा में ट्रांसलेट करता है।

इसी तरह Assembler, Compiler और Interpreter भी ऐसे translator है जो High Level Language को Low Level Language या machine भाषा में convert करते है। जिससे computer उसे आसानी से समझ सके।

 

Conclusion

Computer एक machine है और ये सिर्फ machine भाषा 0 और 1 को समझता है। जिन्हें Low Level Language कहा जाता है। हम computer में code High Level Language से आसानी से सकते है। जिसका use सॉफ्टवेर बनाने के लिए किया जाता है?

यह पोस्ट आपको केसी लगी इसके बारे में हमे Comment कर बताये। इसके Related कोई Question आपके दिमाग में है तो आप पूछ सकते है । हमे Support करने के लिए Facebook, Twitter और Youtube पर Like, follow और Subscribe करे। हम एसे ही काम की बाते आपके लिए लाते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: